न्यूज़ हेडलाइंस Post

Followers

यह ब्लॉग समर्पित है!

"संत श्री 1008 श्री खेतेश्वर महाराज" एवं " दुनिया भर में रहने वाले राजपुरोहित समाज को यह वेबसाइट समर्पित है" इसमें आपका स्वागत है और साथ ही इस वेबसाइट में राजपुरोहित समाज की धार्मिक, सांस्‍क्रतिक और सामाजिक न्‍यूज या प्रोग्राम की फोटो और विडियो को यहाँ प्रकाशित की जाएगी ! और मैने सभी राजपुरोहित समाज के लोगो को एकीकृत करने का ऐसा विचार किया है ताकि आप सभी को राजपुरोहित समाज के लोगो को खोजने में सुविधा हो सके! आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं तो फिर तैयार हो जाईये! "हमारे किसी भी वेबसाइट पर आपका हमेशा स्वागत है!"
वेबसाइट व्यवस्थापक सवाई सिंह राजपुरोहित-आगरा{सदस्य} सुगना फाऊंडेशन-मेघलासिया जोधपुर 09286464911

मेरे साथ फेसबुक से जुडिए

2.4.13

आओ भक्तोँ आज सुनाऊँ गाथा मेरे दाता की ...श्री नरपत सिंह राजपुरोहित



आओ भक्तोँ आज सुनाऊँ गाथा मेरे दाता की ,
ब्रह्माअवतार से जन्मे उस विधाता की ,
खेतेश्वर दाता नाम उनका, मुकुन्द की है सवारी ,
प्रेम से बोलो प्यार से बोलो बोलो जय दाता री ।।
....
शेरसिँह के घर जन्मे , थे भजनो के शौकीन ,
बैल चराने जाते साँई की बैरी, रहते भजनोँ मेँ ही लीन ,
सगाई के संग को बहन बनाया ओढा चुनरी तारा री ,
प्रेम से बोलो प्यार से बोलो बोलो जय दाता री ।।
.....
ब्रह्मज्ञान के तप को जाना 
समाज को सर्वोच्च माना ,
हुए ब्रह्मभक्ति मे लीन 
बन के ब्रह्मचारी,
प्रेम से बोलो प्यार से बोलो बोलो जय दाता री ।।
.....
सावित्री के श्राप को किया धराशायी ,
आसोतरा पवित्र भुमि पर ब्रह्मधाम बनायी ,
ब्रह्माअवतार दाता आपने समाज राजपुरोहित सुधारी ,
प्रेम से बोलो प्यार से बोलो बोलो जय दाता री ।।
.....
ब्रह्मलीन हुए आप, पूरी समाज वहाँ पधारी ,
पथ के राही बन के तुलसाराम जी गादी संवारी ,
जग मे अमर नाम दाता 
तुलसाराम जी भक्ति संभाली दाता री ,
प्रेम से बोलो प्यार से बोलो बोलो जय दाता री ।।
......
जो मन से दाता को ध्यावे ,
मनवाँछित फल पावे ,
राखो इण अज्ञानी पर नजर ,
मै भी समाज का बनु ''हमसफर'' ,
चरणों का सेवक मैँ भी दाता ,
नरपत नाम पुजारी ,
प्रेम से बोलो प्यार से बोलो बोलो जय दाता री ।।
जय दाता री सा ।


भेजने वाले  श्री नरपत सिंह राजपुरोहितजी

 हमसफर 



  प्रस्तुतकर्ता :- 
सवाई सिंह राजपुरोहित आगरा 
{सदस्य}
सुगना फाऊंडेशन-मेघलासिया जोधपुर
कोई सुझाव देना चाहते है! तो हमसे संपर्क करे! 
हमारा ई-मेल पता है :- sawaisinghraj007@gmail.com


मेरे साथ जुडिए फेसबुक पर  

इस लिंक पर क्लिक करें

1 comment:

  1. जय दाता री सा
    नरपत सिंगाह्जी और भाई सवाई सा ने
    ...........................................गुरूजी है म्हारे, हिवडे रा हार, सरल स्वभावी ऐ तो, ज्ञान का भण्डार
    व्यसन मुक्ति से पढावे ए तो पाठ, गुरूजी रो नाम लियां होसी बेडो पार।।
    .........................
    पुरोहित मुकेश दुदावत रोपसी

    ReplyDelete

thank u dear
Join fb Page
https://www.facebook.com/rajpurohitpage

हिंदी में लिखिए अपनी...

रोमन में लिखकर स्पेस दीजिए और थोड़ा सा इंतजार कीजिए .... सुगना फाऊंडेशन-मेघालासिया जैसे :- Ram (स्पेस) = राम
अब इस कॉपी करे और पेस्ट करे...सवाई आगरा

आपका लोकप्रिय ब्लॉग अब फेसबुक पर अभी लाइक करे .



Like & Share

Share us

ट्विटर पर फ़ॉलो करें!

Contact me

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Nivedan Hai