न्यूज़ हेडलाइंस Post

Followers

यह ब्लॉग समर्पित है!

"संत श्री 1008 श्री खेतेश्वर महाराज" एवं " दुनिया भर में रहने वाले राजपुरोहित समाज को यह वेबसाइट समर्पित है" इसमें आपका स्वागत है और साथ ही इस वेबसाइट में राजपुरोहित समाज की धार्मिक, सांस्‍क्रतिक और सामाजिक न्‍यूज या प्रोग्राम की फोटो और विडियो को यहाँ प्रकाशित की जाएगी ! और मैने सभी राजपुरोहित समाज के लोगो को एकीकृत करने का ऐसा विचार किया है ताकि आप सभी को राजपुरोहित समाज के लोगो को खोजने में सुविधा हो सके! आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं तो फिर तैयार हो जाईये! "हमारे किसी भी वेबसाइट पर आपका हमेशा स्वागत है!"
वेबसाइट व्यवस्थापक सवाई सिंह राजपुरोहित-आगरा{सदस्य} सुगना फाऊंडेशन-मेघलासिया जोधपुर 09286464911

मेरे साथ फेसबुक से जुडिए

18.9.16

पूणिॅमा को राजपुरोहित समाज अहमदाबाद बना इतिहास का साक्षी

🚩पूणिॅमा को राजपुरोहित समाज अहमदाबाद बना इतिहास का साक्षी🚩


पूज्य ब्रह्मचारी श्री डा ध्यानाराम जी वेदांतचायॅजी के सतत प्रयत्नो से समाज मे व्याप्त कुरीतीओ को मीटाने, समाज को संगठित करने,आध्यात्मिक का भाव जगाने, व्यसन मुक्त करने के मुख्य आशय से  "अखिलविश्व राजपुरोहित खेतेश्वर युवा सेवा संघ "की स्थापना की गई
हम सब को विदीत है की वेदांतचायॅजी ने सतत भ्रमण प्रयत्न कर सफल "संस्कार शिविर " का आयोजन करके समाज मे क्रांति लाई, वेदांतचायॅजी ने देशभर के कायॅक्रताओ को आसोत्रा धाम से समाज उत्थान के लिए आह्वानीत किया कीं हर पूणिॅमा को प्रत्येक गाँव मे संत्सग इत्यादि का आयोजन करना

अहमदाबाद के बंधुओ ने महाराज जी की आज्ञा को शीरोमान्य रखते हुए तुरंत ही
पूणिॅमा संत्सग का आयोजन किया
जीसमे सेकंडो बंधुओ ने हिस्सा लिया
•ब्राह्माअंशा अवतार पूज्य श्रीखेतारामजी महाराज के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर पुष्पहार कर कार्यक्रम की शुरुआत कीं
•उपस्थिति बंधुओ का परिचय हुआ
•(संघ)संस्था परिचय,•
संघ दवरा हुए कायोॅ का विवरण रखा गया,
•आगामी होने वाले कार्योजनाओं से अवगत करवाया,
•अमृतवचन का वाचन,
•वक्ता दवरा बोध्धीक,
•आरती
•विश्वशांति पाठ,
•प्रसादम्
•आभार,
•विकीर

इस प्रकार बड़े हषोॅउल्लास के साथ कार्यक्रम का आयोजन हुआ
अगले माह के पूणिॅमा के स्थान की घोषणा की गई

विशेष बात यह रही कायॅकरम
•समय का ध्यान रखा गया
•आगुतंको का तिलक दवरा स्वागत किया
•बेठक व्यवस्था मे सभी पंक्तिबध अनुसाशन से  बैठे थे
•पादुकाए नीयत स्थान पर ही पंक्तिबध रखी गई
•पूणॅ समय तक सभी बैठे रहे
•व्यसन मुक्त रहा कायॅकरम
•आपसी प्रेमभाव व संगठन पर भार रखा गया।
•कार्यक्रम आंडबर विहीन हो इसका पूरा ध्यान रखा गया (सादगी पूणॅ)


News send by  नरेन्द्रसिह पुरोहित रूपावास अमदावाद


No comments:

Post a Comment

thank u dear
Join fb Page
https://www.facebook.com/rajpurohitpage

हिंदी में लिखिए अपनी...

रोमन में लिखकर स्पेस दीजिए और थोड़ा सा इंतजार कीजिए .... सुगना फाऊंडेशन-मेघालासिया जैसे :- Ram (स्पेस) = राम
अब इस कॉपी करे और पेस्ट करे...सवाई आगरा

आपका लोकप्रिय ब्लॉग अब फेसबुक पर अभी लाइक करे .



Like & Share

Share us

ट्विटर पर फ़ॉलो करें!

Contact me

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Nivedan Hai