न्यूज़ हेडलाइंस Post

Followers

यह ब्लॉग समर्पित है!

"संत श्री 1008 श्री खेतेश्वर महाराज" एवं " दुनिया भर में रहने वाले राजपुरोहित समाज को यह वेबसाइट समर्पित है" इसमें आपका स्वागत है और साथ ही इस वेबसाइट में राजपुरोहित समाज की धार्मिक, सांस्‍क्रतिक और सामाजिक न्‍यूज या प्रोग्राम की फोटो और विडियो को यहाँ प्रकाशित की जाएगी ! और मैने सभी राजपुरोहित समाज के लोगो को एकीकृत करने का ऐसा विचार किया है ताकि आप सभी को राजपुरोहित समाज के लोगो को खोजने में सुविधा हो सके! आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं तो फिर तैयार हो जाईये! "हमारे किसी भी वेबसाइट पर आपका हमेशा स्वागत है!"
वेबसाइट व्यवस्थापक सवाई सिंह राजपुरोहित-आगरा{सदस्य} सुगना फाऊंडेशन-मेघलासिया जोधपुर 09286464911

न्यूज़ हेडलाइंस

न्यूज़ हेडलाइंस LATEST: Sawai Singh Rajpurohit

29.9.16

डाॅ राजेन्द्र पुरोहित ने बढ़ाया राजस्थान का मान, अमेरिका में किया पत्र वाचन


बीकानेर। डूंगर महाविद्यालय के प्राणी शास्त्र के वरिष्ठ व्याख्याता एवं विकिरण वैज्ञानिक डॉ. राजेन्द्र पुरोहित ने अमेरिका के सेन्ट एन्टोनियो में आयोजित बायोफार्मा 2016 अन्तरराष्ट्रीय सम्मेलन में भाग लेकर पत्र वाचन किया है। डॉ. पुरोहित ने सम्मेलन में विकिरणों व भारी धातुओं द्वारा घटते हुए शुक्राणुओं एवं बढ़ती नपुसंकता एवं उनका आंवला तथा अन्य औषधीय पादपों द्वारा बचाव विषय पर विश्व पटल पर अपना शोध पत्र प्रस्तुत किया।
                 डॉ. पुरोहित ने अनियंत्रित विकिरणों के उपयोग एवं दूषित पानी के कारण बढ़ती नपुसंकता पर चिंता व्यक्त की तथा विश्वभर के वैज्ञानिकों को इसके कारण व निवारण के बारे में विस्तृत जानकारी दी। 


                कई देशों के वैज्ञानिक आए
डॉ. पुरोहित ने बताया कि सम्मेलन में अमेरिका के जोर्जिया विश्वविद्यालय के प्रो. टीमुराज लेझावा, स्वीडन के प्रो. हरिशंकर शर्मा, इटली की डॉ. लोरिला रागनी व डॉ. मिटीओ मिकुसी, ऑस्ट्रेलिया की डॉ. मयासा, जापान के डॉ. मत्सुडा, ब्राजील की लीविया स्टोको सहित इथोपिया व कनाडा आदि अनेक देशों के वैज्ञानिकों ने भाग लेकर शोध पत्र प्रस्तुत किए। डॉ. पुरोहित ने बताया कि सम्मेलन में विश्वभर के वैज्ञानिकों ने डूंगर महाविद्यालय के प्राणीशास्त्र विभाग में चल रहे विकिरण जैविकी के शोध कार्यों को विशेष रूप से सराहा। प्रो. टीमुराज ने डूंगर महाविद्यालय के साथ मिलकर संयुक्त शोध कार्य करने की इच्छा व्यक्त की।


डॉ. पुरोहित ने बताया कि सम्मेलन में अमेरिका के जोर्जिया विश्वविद्यालय के प्रो. टीमुराज लेझावा, स्वीडन के प्रो. हरिशंकर शर्मा, इटली की डॉ. लोरिला रागनी व डॉ. मिटीओ मिकुसी, ऑस्ट्रेलिया की डॉ. मयासा, जापान के डॉ. मत्सुडा, ब्राजील की लीविया स्टोको सहित इथोपिया व कनाडा आदि अनेक देशों के वैज्ञानिकों ने भाग लेकर शोध पत्र प्रस्तुत किए। डॉ. पुरोहित ने बताया कि सम्मेलन में विश्वभर के वैज्ञानिकों ने डूंगर महाविद्यालय के प्राणीशास्त्र विभाग में चल रहे विकिरण जैविकी के शोध कार्यों को विशेष रूप से सराहा। प्रो. टीमुराज ने डूंगर महाविद्यालय के साथ मिलकर संयुक्त शोध कार्य करने की इच्छा व्यक्त की।


No comments:

Post a Comment

thank u dear
Join fb Page
https://www.facebook.com/rajpurohitpage

हिंदी में लिखिए अपनी...

रोमन में लिखकर स्पेस दीजिए और थोड़ा सा इंतजार कीजिए .... सुगना फाऊंडेशन-मेघालासिया जैसे :- Ram (स्पेस) = राम
अब इस कॉपी करे और पेस्ट करे...सवाई आगरा

एक सुचना

एक सुचना

Share us

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Contact me