न्यूज़ हेडलाइंस Post

Followers

यह ब्लॉग समर्पित है!

"संत श्री 1008 श्री खेतेश्वर महाराज" एवं " दुनिया भर में रहने वाले राजपुरोहित समाज को यह वेबसाइट समर्पित है" इसमें आपका स्वागत है और साथ ही इस वेबसाइट में राजपुरोहित समाज की धार्मिक, सांस्‍क्रतिक और सामाजिक न्‍यूज या प्रोग्राम की फोटो और विडियो को यहाँ प्रकाशित की जाएगी ! और मैने सभी राजपुरोहित समाज के लोगो को एकीकृत करने का ऐसा विचार किया है ताकि आप सभी को राजपुरोहित समाज के लोगो को खोजने में सुविधा हो सके! आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं तो फिर तैयार हो जाईये! "हमारे किसी भी वेबसाइट पर आपका हमेशा स्वागत है!"
वेबसाइट व्यवस्थापक सवाई सिंह राजपुरोहित-आगरा{सदस्य} सुगना फाऊंडेशन-मेघलासिया जोधपुर 09286464911

मेरे साथ फेसबुक से जुडिए

11.2.17

जाने श्री खेताराम जी महाराज ने 12 साल मौन रहकर कहा तपश्या की थी

Rameshwar Rajpurohit
Sant shri kheteshwar ji Maharaj

प्रिय मित्रों,
नमस्कार ।जय रघुनाथ जी री।
आज माघ मास की पूर्णिमा हैं और मैं जहाँ बैठा हूँ वो स्थान जितना साधारण दिखता हैं उतना हैं नहीं।
यह वही स्थान हैं जहाँ हमारे राजपुरोहित समाज के तारण हार ब्रह्म ऋषि श्री श्री 1008 श्री खेताराम जी महाराज ने12 साल(एक युग) मौन रह कर तपश्या की थी।यह तपश्या स्थली समदड़ी स्टेशन से ठीक 1 किलो मीटर पर( श्री खेताराम जी को खेजड़ियो) स्थित हैं जो एक अत्यंत आनंददायी मन को शांति देंने वाला स्थान हैं। गुरु महाराज खेताराम जी अकसर बताया करते थे की ये वीर हनुमान जी का स्थान हैं शायद उनकी प्रेरणा से ही गुरु महाराज मौन तपश्या के लिए यह स्थान चुना।

आपको सुन कर ताज्जुब होगा की हमारा राज पुरोहित समाज आज गुरु महाराज जी की कृपा से बहुत फला फुला व फल फूल रहा हैं बहुत जगह मन्दिर भी हो गए और बहुत जगह हो भी रहे हैं मगर यह जगह गुरु महाराज जैसे छोड़ कर गए वैसे ही आज भी स्थिति हैं।

गुरु महाराज श्री तुलछाराम जी महाराज भी यहाँ बहुत बार पधारे मगर यहाँ इस स्थान का कुछ भी सुधार नहीं हुआ। शायद गुरु महाराज खेताराम जी की यही इच्छा  होगी।
जहाँ गुरु देव खेताराम जी ने अपनी जीवन के महत्व पूर्ण 12 साल बीता कर ब्रह्म ज्ञान प्राप्त किया वो स्थान साधारण कैसे हो सकता हैं।
तो आप सभी का ध्यान आकृष्ट करने के लिये ये चित्र प्रस्तुत कर रहा हूँ

आप सभी से अनुरोध करूँगा कि आप जब भी अशोत्रा धाम आते हैं तो इस तपश्या स्थली भी आकर उस खेजड़िया के दर्शन लाभ अवश्य लें जिसके नीचे बैठ कर गुरु महाराज ध्यान किया करते थे।
ये स्थान समदड़ी स्टेशन से1 किलोमीटर कल्याण पुर रोड़ पर sun rise school के पीछे हैं।
धन्यवाद।
इस पोस्ट के लिए मैं श्री रामेश्वर सिंह राजपुरोहित जी का दिल से आभारी हूँ

   श्री रामेश्वर सिंह राजपुरोहित काफी लोगो कॊ यह जगह मालूम ही नही है जानकारी देने के लिये आपको बहूत बहूत धन्यवाद सा जय दाता री सा

आपका अपना
सवाई सिंह राजपुरोहित आगरा
सदस्य सुगना फाउंडेशन मेघलासिया परिवार


No comments:

Post a Comment

Thank u Plz Join fb Page
https://www.facebook.com/rajpurohitpage

हिंदी में लिखिए अपनी...

रोमन में लिखकर स्पेस दीजिए और थोड़ा सा इंतजार कीजिए .... सुगना फाऊंडेशन-मेघालासिया जैसे :- Ram (स्पेस) = राम
अब इस कॉपी करे और पेस्ट करे...सवाई आगरा

आपका लोकप्रिय ब्लॉग अब फेसबुक पर अभी लाइक करे .



Like & Share

Share us

ट्विटर पर फ़ॉलो करें!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Nivedan Hai