न्यूज़ हेडलाइंस Post

Followers

यह ब्लॉग समर्पित है!

"संत श्री 1008 श्री खेतेश्वर महाराज" एवं " दुनिया भर में रहने वाले राजपुरोहित समाज को यह वेबसाइट समर्पित है" इसमें आपका स्वागत है और साथ ही इस वेबसाइट में राजपुरोहित समाज की धार्मिक, सांस्‍क्रतिक और सामाजिक न्‍यूज या प्रोग्राम की फोटो और विडियो को यहाँ प्रकाशित की जाएगी ! और मैने सभी राजपुरोहित समाज के लोगो को एकीकृत करने का ऐसा विचार किया है ताकि आप सभी को राजपुरोहित समाज के लोगो को खोजने में सुविधा हो सके! आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं तो फिर तैयार हो जाईये! "हमारे किसी भी वेबसाइट पर आपका हमेशा स्वागत है!"
वेबसाइट व्यवस्थापक सवाई सिंह राजपुरोहित-आगरा{सदस्य} सुगना फाऊंडेशन-मेघलासिया जोधपुर 09286464911

मेरे साथ फेसबुक से जुडिए

11.8.17

गरीमा राजपुरोहित के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पारित ओर कांग्रेस में फूट

एक राजपुरोहित होने के नाते दिल में गरिमा राजपुरोहित के साथ जो हुआ उसके लिए बेहद दुख एवं सहानुभूति है
वो सिर्फ़ कांग्रेस पार्टी की प्रधान नहीं थी बल्कि पूरे बाड़मेर जिले के राजपुरोहितो का राजनीति में उभरता चेहरा थी
सिवाणा विधानसभा क्षेत्र की सशक्त भावी विधायक उम्मीदवार थी उनकी बड़ती लोकप्रियता उनकी ही कांग्रेस पार्टी के सिवाणा क्षेत्र के बड़े नेताओ को रास नही आईl
       ओर गरिमा जी की गरिमा को उनकी अपनी पार्टी के लोगों ने गिराकर उनको आगे बड़ने से रोकने का षडियंत्र रचडाला कोंग्रेसियो की आपस की लड़ाई की वजह से आज गरिमा जी नही अपितु हमारे राजपुरोहित समाज की गरिमा गिराई गई है ओर यह कोई साधारण घटना नहि है यह घटना हमें बहुत  कुछ सोचने पर मजबूर करती है

गरीमा के खिलाफ अविश्वास या सिवाना कांग्रेस की राजनैतिक गरीमा का पतन

सिवाना की राजनीति हमेशा से ही उठापटक भरी रही हैं! पिछलें लंबे समय से सिवाना कांग्रेस में पनप रही आपसी फूट आज आखिरकार सिवाना की राजनीति में भूचाल ले आई! बाड़मेर जिलें की अग्रणी पंक्ति की प्रधान मानी जानें वाली नारी सशक्तिकरण की उम्दा मिशाल गरीमा राजपुरोहित के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पास होते ही उनको अपदस्थ कर दिया गया! 25 सदस्यी सिवाना पंचायत समिति में एक सदस्य के ईस्तिफा देने के बाद बाकी बचे 24 सदस्यों में से अविश्वास प्रस्ताव के लियें 18 मतों की दरकार थी जो पूरी हो गई! प्रधान गरीमा राजपुरोहित सहित कुल 6 सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव का समर्थन नही किया!
            गरीमा राजपुरोहित के अपदस्थ होते ही राजपुरोहित समाज से मिली जुली प्रतिक्रिया आने लगी! वहीं महंत निर्मलदास जी के सहयोग के बिना भी अविश्वास प्रस्ताव का पास होना संभव नही था! ऐसे में राजपुरोहित समाज के जब स्वयं के लोग अपने ही समाज की उभरती राजनैतिक शख्सियत को अपदस्थ करनें में भागीदार हो तो मगर गरीमा का विरोध कर यें नेता अपने समाज में पैठ जमा पाएँगें! ऐसी उम्मीद कम ही हैं!
         वहीं कांग्रेस का यह लगातार दूसरा मौका हैं जब वह अपने ही प्रधान के विरूद्ध अविश्वास प्रस्ताव लेकर आई हैं! हालांकि पूर्व प्रधान मालाराम के खिलाफ उस समय प्रस्ताव पास नही हुआ था मगर यह अविश्वास प्रस्ताव पास हो गया!
         गरीमा राजपुरोहित की बात की जाए तो वे सिवाना की पहली पोस्ट ग्रेजुएट प्रधान थी! साथ ही उन्होंने चित्रकला में भी बड़ी महारथ हासिल की हैं! उनके नाम कई राज्य स्तरीय अवॉर्ड़ हैं! वे बालिका शिक्षा को लेकर भी काफी काम कर रही हैं! प्रधान पद पर काबिज होते ही वे सिवाना की मुखर आवाज बन कर उभरने लगी थी! जिला परिषद की बैठकों में उनका बेबाक अंदाज मिडीया की सूर्खियाँ बना! लिहाजा उनका राजनैतिक कद दिनबदिन बढ़नें लगा! समाज में भी उनकी काफी पैठ थी! कांग्रेस पार्टी में ऐसी राजनेत्री का उभरना कांग्रेस के मौजूदा नेताओं को नागवार गुजरना स्वाभाविक था! गरीमा राजपुरोहित के ससुर चंदनसिंह राजपुरोहित जीवन भर कांग्रेस पार्टी की सेवा में रहें हैं!


गरीमा राजपुरोहित का अविश्वास प्रस्ताव के बाद पहला इंटरव्यू
हरीश चौधरी सहित ओमाराम मेगवाल पर लगायें गंभीर आरोप

देखें क्या कहा  पूर्व प्रधान श्रीमती गरिमा राजपुरोहित ने पुरा exclusive video only राजपुरोहित समाज इंडिया YouTube चैनल
अभी देखें ओर शेयर करें सभी ग्रुप में....

 https://youtu.be/ER4FolljXcw 
 पूर्व प्रधान श्रीमती गरिमा राजपुरोहित ने कहा 

Subscribe Kare YouTube channel......


No comments:

Post a Comment

Thank u Plz Join fb Page
https://www.facebook.com/rajpurohitpage

हिंदी में लिखिए अपनी...

रोमन में लिखकर स्पेस दीजिए और थोड़ा सा इंतजार कीजिए .... सुगना फाऊंडेशन-मेघालासिया जैसे :- Ram (स्पेस) = राम
अब इस कॉपी करे और पेस्ट करे...सवाई आगरा

आपका लोकप्रिय ब्लॉग अब फेसबुक पर अभी लाइक करे .



Like & Share

Share us

ट्विटर पर फ़ॉलो करें!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Nivedan Hai