न्यूज़ हेडलाइंस Post

Followers

यह ब्लॉग समर्पित है!

"संत श्री 1008 श्री खेतेश्वर महाराज" एवं " दुनिया भर में रहने वाले राजपुरोहित समाज को यह वेबसाइट समर्पित है" इसमें आपका स्वागत है और साथ ही इस वेबसाइट में राजपुरोहित समाज की धार्मिक, सांस्‍क्रतिक और सामाजिक न्‍यूज या प्रोग्राम की फोटो और विडियो को यहाँ प्रकाशित की जाएगी ! और मैने सभी राजपुरोहित समाज के लोगो को एकीकृत करने का ऐसा विचार किया है ताकि आप सभी को राजपुरोहित समाज के लोगो को खोजने में सुविधा हो सके! आप भी इसमें शामिल हो सकते हैं तो फिर तैयार हो जाईये! "हमारे किसी भी वेबसाइट पर आपका हमेशा स्वागत है!"
वेबसाइट व्यवस्थापक सवाई सिंह राजपुरोहित-आगरा{सदस्य} सुगना फाऊंडेशन-मेघलासिया जोधपुर 09286464911

न्यूज़ हेडलाइंस

न्यूज़ हेडलाइंस LATEST: Sawai Singh Rajpurohit

21.5.12

दूसरा ब्रम्हाजी मंदिर आसोतरा में जिला बाडमेर राजस्थान में बना हुआ है!

भगवान ब्रह्मा हिन्दू त्रय के प्रमुख भगवान है. अन्य दो भगवान विष्णु और भगवान महेश हैं! ब्रह्मा सृष्टि का स्वामी है! पुष्कर में ब्रह्मा का मंदिर है! दूसरा ब्रम्हाजी मंदिर आसोतरा में जिला बाडमेर राजस्थान में बना हुआ है ये मन्दिर श्री 1008 खेतेश्वर महाराजजी दुवारा बनाया गया है इस मंदिर जैसलमेर के पीले (सुनहरे पत्थर) मुख्य प्रवेश द्वार हॉल के निर्माण में इस्तेमाल किया गया है! मंदिर के बाकी जोधपुर पत्थर (Chhitar स्टोन) से बना है! श्री ब्रह्मा जी की मूर्ति संगमरमर से बना है! लेकिन नक्काशी काम अद्वितीय है. मंदिर की नींव 20 अप्रैल, 1961 को रखी गई थी लेकिन देवता 6 मई 1984 पर विराजमान किया गया था. 23 वर्ष तक चले निर्वहन इस मन्दिर निमार्ण में राजस्थान की सूर्य नगरी जोधपुर के छीतर पत्थर को तलाश कर स्वंयं के कठोर परिश्रम से बिना किसी नक्शा तथा नक्शानवेश के 44 खम्भों पर आधारित दो विशाल गुम्बजों में एक विशालकाय शिखर गुम्बज तथा उत्तर-दक्षिण में पांच-पांचकुल दस छोटी गुम्बज नुमा शिखाएंहाथ की सुन्दर कारीगरी की अनेक कला कृतियां जिनकी तलाश की सफाई व अनोखे आकारो में मंडित प्रतिमायें जिसमें प्रमुख देवता भगवान ब्रह्मा है, उसकी पत्नी गायत्री प्रतिमा मुख्य देवता की तरफ से भी है. वास्तव में मूर्ति मूर्तिकला लालित्य की अद्वितीय टुकड़ा है. वहाँ विभिन्न वैदिक ऋषि - मुनियों महर्षि उद्दालक (Uddalak), महर्षि वशिष्ठ, महर्षि कश्यप, महर्षि गौतम, महर्षि पिप्पलादा के, महर्षि पराशर के और महर्षि भारद्वाज  सहित विभिन्न वैदिक ऋषियों की प्रतिमाओ से जुडा पवित्र व शान्त वातावरण इस विशाल काय ब्रह्म मन्दिर के एक दृढ संकंल्पी चिरतामृत का समर्पण दर्शनार्थी को आकिर्षत किए बिना नही रहता और इस मदिर के वर्तमान गादीपति एवं राजपुरोहित समाज के धर्माधीकारी संत अनंत श्री विभूषित ब्रह्मऋषि ब्रह्माचार्य श्री ब्रह्मा सावित्री सिध्द पीठाधीश्वर श्री 1008 तुलसाराम जी महाराज है ये मंदिर राजपुरोहित समुदाय द्वारा मुख्य रूप से बनाया गया है! 
  ब्रम्हाजी मंदिर का प्रवेश दुवार आसोतरा में जिला बाडमेर राजस्थान  
 ब्रम्हाजी मंदिर 
श्री ब्रह्मा जी की प्रतिमा 
इस मंदिर में ब्रहमाजी भगवान के स्‍नान का पानी कंही अन्‍यत्र न जाये! { ब्रह्म की प्रतिमा के स्नान का पवित्र जल भूमि के उपर नही बिखरे जिसके संदर्भ में उन्होने प्रतिमा से पाताल तक जल विर्सजन के लिए स्वंयं की तकनिक से लम्बी पाईप लाईन लगावाई! } इस लिये दर्शनार्थियों के लिये यह व्‍यवरूथा मन्दिर के पिछे वाले भाग में की गई है! यंहा आने वाले दर्शनार्थी ईस पवित्र जल को अपनी आंखो पर लगाकर अपने कष्‍टो से मुक्‍त हो जाते है!


श्री 1008 खेतेश्वर महाराजजी
Aarti  Timings(आरती स्थिति)

Mangla Aarti : 6 am
Sringar Aarti : 10 am
Bhog aarti : 12 noon
Sandhya Aarti : 9:30 pm
Shayan aarti : 10:30 pm

Darshan Timings{दर्शन स्थिति}

Mangla Darshan : 5:30 am to 6 am{मंगला दर्शन: 5:30 से 6 बजे शाम}
Sringar Darshan : 8 am to 10 am
Bhog Darshan : 10 am to 12 noon
Vishram from 1pm to 3 pm and temple will be closed 
Uthapan Darshan : 3 pm to 5 pm
Sandhya Darshan : 5 pm to 9 pm
Shayan Darshan : 9 pm to 10 pm

चित्र लिया गया है :- www.skbdtirth.org


 ब्रम्हाजी मंदिर आसोतरा के  बारे में ओर अधिक जानकारी के लिये देखे!
 www.skbdtirth.org


ब्रह्मवतार संत श्री श्री 1008 श्री खेतेश्वर महाराज के जीवन के बारे में पूरी जानकारी उपलब्ध है यहाँ पर कलिक करें 


 श्री 1008 तुलसाराम जी महाराज के जीवन के बारे में पूरी जानकारी उपलब्ध है यहाँ पर कलिक करें 


प्रस्तुतकर्ता
सवाई सिंह रापुरोहित आगरा
(सदस्य)
सुगना फाऊंडेशन मेघलासिया जोधपुर

56 comments:

  1. ब्रम्हाजी मंदिर के बारे में विस्तृत जानकारी देने के लिये आपका बहुत बहुत आभार

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार आप का अपना स्नेह बनाये रखें

      Delete
  2. अत्यंत ज्ञानवर्धक और चेतना व स्फूर्ति प्रदान करता ...बहुत बढ़िया आलेख

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर जानकारी...

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार आप का अपना स्नेह बनाये रखें ...

      Delete
  4. आपकी पोस्ट अच्छी लगी अच्छा लगा यह देखकर की आप समाज की जानकारी और लोगो तक पंहुचा रहे हो और आपकी यह पोस्ट भी मुझे इस लिए बड़ी अच्छी लगी, विशेष तौर पर इस पोस्ट में जानकारी सही है और फ़ोटोज़ बड़े सुन्दर तथा स्पष्ट है.

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार आप का अपना स्नेह बनाये रखें...

      Delete
  5. जानकारी के लिये धन्यवाद.

    ReplyDelete
  6. waah bahut umda jaankari, gyanverdhak jankari ke liye aapka bahut bahut aabhar

    ReplyDelete
    Replies
    1. आप सभी साथियों का आभार व्यक्त करता हु और आपका सहयोग रहा तो हम आने वाले समय में और भी जानकारी उपल्बध करवाएगे ....स्नेह बनाये रखे और मार्गदर्शन करते रहें यही आपसे अनुरोध है !!

      Delete
  7. ब्रम्हा जी मंदिर के बारे में बहुत ही ज्ञानवर्धक जानकारी मिली
    ........आपका बहुत बहुत आभार !

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार आप का अपना स्नेह बनाये रखें..

      Delete
  8. ati sundar aur gyanvardhak jaankari ke sath sundar prastuti ! rajpurohit samaj ka anupam prayas !!

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार आप का अपना स्नेह बनाये रखें और यदि ब्लाग्स अच्छे लगें.तो कृपया अपना समर्थन भी दें.

      Delete
  9. दोस्तों क्या आपका भी नेट से पैसे कमाने का मन करता है

    मैं तुम्हारे लिए कुछ दिलचस्प है - आप आसानी से PaisaLive.com के माध्यम से नियमित आय ऑनलाइन कमा सकते हैं!
    मेल पढने के आपको पैसे मिलते है तो देर किस बात की अभी रजिस्टर करे
    abhi is link par jaae......
    ..http://www.PaisaLive.com/register.asp?5000971-6731800

    ReplyDelete
  10. ब्रह्मा जी के दूसरे मन्दिर के बारे में जानकर अच्छा लगा... अच्ची जानकारी..आभार

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार आप का अपना स्नेह बनाये रखें

      Delete
  11. mandir ke sambandh me mahatvpoorn jankari mili .....sadar abhar,

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार आप का अपना स्नेह बनाये रखें और यदि ब्लाग्स अच्छे लगें.तो कृपया अपना समर्थन भी दें.

      Delete
  12. सम्पूर्ण जानकारी के साथ एक अच्छा ब्लॉग है...

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार आप का अपना स्नेह बनाये रखें और यदि ब्लाग्स अच्छे लगें.तो कृपया अपना समर्थन भी दें.

      Delete
  13. बहुत सुंदर ब्रम्हा जी मंदिर की जानकारी ,,,,,,,

    MY RECENT POST,,,,,काव्यान्जलि,,,,,सुनहरा कल,,,,,

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार आप का अपना स्नेह बनाये रखें

      Delete
  14. ब्रह्मा जी के मंदिर के विषय में बहुत महत्वपूर्ण जानकारी दी है कभी गए तो दर्शनार्थ वहां जरूर आयेंगे

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार आप का अपना स्नेह बनाये रखें

      Delete
  15. sundar jankari.....sarthak lekhan

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार आप का अपना स्नेह बनाये रखें और यदि ब्लाग्स अच्छे लगें.तो कृपया अपना समर्थन भी दें.

      Delete
  16. Bahut Khubsoorat hai:) Thank u so much for sharing this beautiful post.. Keep writing:)

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपके स्नेह के लिए आभार साथ ही प्रतिक्रिया हेतु

      Delete
  17. इतनी विस्तृत जानकारी के लिए बहुत बुत शुक्रिया ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपके स्नेह के लिए आभार साथ ही प्रतिक्रिया हेतु

      Delete
  18. विस्तृत जानकारी के लिए शुक्रिया ,बहुत अच्छी ब्लॉग है

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद और आभार

      Delete
  19. जगतपिता ब्रह्मा जी के पुष्कर में स्थित मंदिर के दर्शनों का सौभाग्य प्राप्त हुआ था तभी यह जानकारी भी मिली थी कि समूचे भारतवर्ष में ब्रह्मा जी का एकमात्र यही मंदिर है ।
    अब आपके द्वारा दी गयी इस जानकारी के बाद इस मंदिर के दर्शन हेतु अवश्य आने का प्रयास करूंगा।
    इस उपयोगी जानकारी हेतु आभार

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपके स्नेहके लिए आभार
      आपकी प्रतिक्रिया और भावनाओं के लिए आभारी हूँ

      Delete
  20. परमपिता ब्रम्हा जी कि विस्तृत और सारगर्भित जानकारी देने हेतु धन्यवाद सवाई जी,
    सुन्दर लेख...

    ReplyDelete
    Replies
    1. अपना बहुमूल्य प्रतिक्रिया... धन्यवाद और आभार

      Delete
  21. apako badhai sudar jankari dene ke liye....aabhar

    ReplyDelete
  22. Jankari bahut hi achchi hai. thanks rajpurohit ji

    ReplyDelete
    Replies
    1. Bahut Sunder jankari..

      Delete
  23. मेरा ख्याल है कि ब्रह्माजी का एक मन्दिर कुरूक्षेत्र के सरोवर तट पर भी है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. सर आप सही हो लेकिन मुझे जानकारी नही है!

      Delete
    2. आपकी प्रतिक्रिया के लिए धन्यवाद

      Delete
  24. बहुत ही अच्छी और विस्तृत जानकारी....

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपकी प्रतिक्रिया के लिए धन्यवाद

      Delete
  25. आपके ब्लॉग पर पहली बार आई हूँ.बहुत अच्छा लगा राजपुरोहित समाज ब्लॉग पर आकर.आपको मेरी तरफ से बहुत बहुत हार्दिक बधाई और ढेर सारी शुभ-कामनाएं...
    राजपुरोहित समाज के लिए सवाई जी आपका योगदान सराहनीय ह.

    ReplyDelete
    Replies
    1. समर्थन के लिए आभार.

      Delete
  26. गुरुपूर्णिमा के पावन पर्व की हार्दिक बधाई ,,,,,,

    ReplyDelete
  27. बहुत सुन्दर जानकारी, आभार!

    ReplyDelete
  28. बहुत ही अच्छा लेख ,.

    ReplyDelete

thank u dear
Join fb Page
https://www.facebook.com/rajpurohitpage

हिंदी में लिखिए अपनी...

रोमन में लिखकर स्पेस दीजिए और थोड़ा सा इंतजार कीजिए .... सुगना फाऊंडेशन-मेघालासिया जैसे :- Ram (स्पेस) = राम
अब इस कॉपी करे और पेस्ट करे...सवाई आगरा

एक सुचना

एक सुचना

Share us

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Contact me